प्लैटिनम ने कुछ इस अंदाज में पीएम मोदी को दी नए साल की बधाई, बोले- ‘मुझे विश्वास है कि भारत…’

प्लैटिनम ने कुछ इस अंदाज में पीएम मोदी को दी नए साल की बधाई, बोले- ‘मुझे विश्वास है कि भारत…’


भारत-रूस संबंध: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने विश्वास जताते हुए कि एससीओ और जी20 की भारत की अध्यक्षता में दोनों देशों के बीच गठबंधन का गठन किया। इसके साथ ही एशिया और पूरी दुनिया में स्थिरता और सुरक्षा मजबूत होगी। रूसी राष्ट्रपति के कार्यालय क्रेमलिन ने एक बयान में यह जानकारी दी। बता दें, भारत ने एक दिसंबर को अधिकृत रूप से G-20 की अध्यक्षता संभाली है। साथ ही शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की भी अध्यक्षता भारत के पास है।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजे गए नए साल के संदेश में कहा गया है कि रूस-भारत ने 2022 में अपने राजनयिक व्यवहार की 75वीं वर्षगांठ मनाई है। दोस्ती और आपसी संबंध की सकारात्मक परंपराओं पर भरोसा करते हुए दोनों देश अपनी रणनीतिक साझेदारी को जारी करने से जारी जारी रखते हैं।

मति ने भारत पर विश्वास

दोनों देशों ने बड़े पैमाने पर व्यापार एवं आर्थिक परियोजनाओं के अलावा विद्युत, सैन्य प्रौद्योगिकी और सहयोग के अन्य क्षेत्रों को अंजाम दिया। इसके साथ ही क्षेत्रीय एवं वैश्विक एजेंडे के महत्वपूर्ण मामलों के समाधान के लिए समन्वित प्रयास किए गए। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि भारत की एससीओ और जी20 अध्यक्षता एशिया और पूरी दुनिया में स्थिरता और सुरक्षा को मजबूत सत्ता और भारत-रूस के बीच सहयोग के लिए नए अवसर पैदा करेंगे।

समाचार रीलों

बता दें कि भारत ने अभी तक यूक्रेन पर रूसी हमलों की आलोचना नहीं की है। हालांकि भारत ने इस बात को कई बार दोहराया है कि यूक्रेन संकट को बातचीत के जरिए हल किया जाना चाहिए।

एससीओ क्या है

एससीओ में चीन, भारत, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान, पाकिस्तान और उज्बेकिस्तान शामिल हैं। यह एक यूरेशियाई राजनीतिक, आर्थिक और सुरक्षा संगठन है। यह भौगोलिक दायरा और जनसंख्या के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा क्षेत्रीय संगठन है, जिसके दायरे में यूरेशिया का लगभग 60 प्रतिशत क्षेत्र, दुनिया की 40 प्रतिशत आबादी और वैश्विक सकल घरेलू उत्पादों का 30 प्रतिशत से अधिक हिस्सा आता है।

जी20 क्या है

वहीं, जी20 में भारत सहित कुल 19 देश शामिल हैं। G20 सदस्य वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद लगभग 85 वर्ष, वैश्विक व्यापार के 75 प्रतिशत से अधिक और विश्व जनसंख्या के लगभग दो-तिहाई हिस्से का प्रतिनिधित्व करते हैं।

ये भी पढ़ें : पश्चिम बंगाल: सरकारी कार्यक्रम में ‘जय श्री राम के नारे’ पर बिफरीं सीएम ममता बनर्जी, गुस्सा में छोड़ दिया मंच

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *